Blog कैसे लिखें कि उस पर Traffic आये

हर कोई ब्लॉग सिर्फ एक ही मकसद से लिखना शुरू करता है कि लोग उसके ब्लॉग को पढ़ेंगे। लेकिन अगर बहुत अच्छा Content लिखने के बाद भी लोग न आयें तब यह आपको निराशा के गहरे अंधकार में धकेल देता है। अगर आपके ब्लॉग पर भी ट्रैफिक नहीं आ रहा है तब निराश होने की […]

अगर आप एक writer हैं तब ऐसी गलतियां करने से बचें

क्या आप एक writer हैं? अगर हाँ तब आपको चाहिये कि आप इस तरह की गलतियां न करें जिनके बारे में नीचे बताया गया है। 1. बेवजह अपने काम को मत टालिये अगर आप एक writer हैं तब आपको चाहिये कि आप अपने लिखने के काम को बाद में करने के लिये मत टालिये। आपको […]

अच्छे content writers को कहाँ से hire करें

आज हर किसी के पास internet उपलब्ध है ऐसे में Content की मांग भी बहुत ज्यादा हो गई हैं। लोग अलग अलग केटेगरी के Content को खूब पसंद भी कर रहे है और जो लोग Content Create कर रहे है उनके लिए भी यह कमाई का अच्छा जरिया बन गया है। अगर आप अपनी कोई […]

अपने बिजनेस को ऐसे दें एक नई उड़ान

दोस्तों क्या आप अपने बिजनेस को नई ऊँचाईयों तक लेकर जाना चाहते हैं? अगर हाँ, तब आपको सबसे पहेले marketing पर ध्यान देना होगा क्योंकि जब लोगों को आपके products या services के बारे में पता चलेगा तब ही लोग आपके products या services को लेना चाहेंगे। वगैर ग्राहकों के कोई भी बिजनेस नहीं चल […]

Content writer कैसे बनें?

अगर आप content writer बनना चाहते हैं तब आप एकदम सही जगह पर आये हैं। इस वेबसाइट पर content writer बनने से संबंधित सारी जानकारी दी गई है। Content writer बनना बहुत सरल है, इसमें सिर्फ एक ही चीज़ की जरूरत होती है कि आपको लिखना पसंद हो। अगर आपको content लिखना पसंद नहीं होगा […]

क्या India में है content writers की कमी?

भारत की वर्तमान जनसंख्या 140 करोड़ हैं जो USA की जनसंख्या के चार गुना से भी अधिक है। जनसँख्या के साथ-साथ भारत में साँस्कृतिक भिन्नता भी बहुत अधिक है। भारत में भाषायें और बोलियाँ भी दुनिया के किसी भी देश से अधिक बोली जाती हैं। कुछ लोग समझते तो 1 से अधिक भाषायें हैं लेकिन […]

क्या किसी के जीवन में गुरु की जरूरत वास्तव में होती है?

सका उत्तर हाँ और नहीं दोनों तरह से दिया जा सकता है और दोनों ही उत्तर सही हैं। चलिये सबसे पहेले हाँ से शुरुआत करते हैं- अगर हम कहें कि हाँ जीवन में गुरु की जरूरत होती है तब यह सही बात है क्योंकि जब हम पैदा होते हैं तब बिल्कुल ही अबोध होते हैं। […]

Skip to toolbar