Skip to content
Home » 4G, 5G, 6G में क्या अंतर होता है?

4G, 5G, 6G में क्या अंतर होता है?

4G, 5G, और 6G के बारे में आये दिन इंटरनेट या मीडिया के माध्यम से कुछ न कुछ सुनने को मिलता रहता है लेकिन अक्सर लोगों को इनके बारे में पता नहीं होता।  इस लेख में हमारा उद्देश्य यही रहेगा कि हम आपको 4G, 5G, 6G  के बारे में कुछ बतायें।  जिससे कि आप जब भी इन शब्दों  सुने तब आप पूरी बात गहराई से समझ पायें।

नई-नई नेटवर्क टेक्नोलॉजी के आने से बहुत से नवाचार और रुझान पैदा हो जाते हैं।  जैसे कि 4G के आने से IoT का रुझान बढ़ता चला जा रहा है, 5G आने पर metaverse की तरफ लोगों रुझान बढ़ सकता है।  

4G क्या है ?

आइये सबसे पहले चर्चा कर लेते हैं की 4G के बारे में।  आज कल ज्यादातर भारतीय इंटरनेट users 4G का उपयोग कर रहे हैं।

4G की अधिकतम डाउनलोड स्पीड 100 Mbps है।  यह 3G की स्पीड से 100 गुना तेज है। यह स्पीड पब्लिक के लिए है।  अगर आप theoretically इसकी स्पीड का पता लगाएं तब यह 300 Mbps तक हो सकती है लेकिन इतनी स्पीड किसी प्रयोगशाला में ही संभव है।  प्रैक्टिकल जीवन में यह लगभग असंभव या बहुत कठिन है।

5G क्या है ?

5G वर्तमान(यह लेख लिखने के समय) में सामान्य लोगों के उपलब्ध सबसे तेज मोबाइल नेटवर्क टेक्नोलॉजी है।  इसकी असली दुनिया में डाउनलोड स्पीड 130-250 Mbps तक हो सकती है। अगर कोशिश की जाये और इंफ्रास्ट्रक्चर बगैरह में कुछ सुधार किये जाएँ तब यह स्पीड 1 Gbps या उससे अधिक भी हो सकती है।  

6G क्या है ?

हालाँकि अभी 5G भी ठीक तरीके से दुनिया के बहुत सारे देशों में पैर पसार नहीं पाया है इससे पहले ही 6G की चर्चा होने लगी है।  6G की स्पीड जानकर आप चौंक सकते हैं।  इसकी स्पीड 5G, 4G के मुकाबले कहीं ज्यादा है।  कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि 6G की स्पीड 1 Tbps यानि कि (1,000,000 Mbps) तक हो सकती है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.